Haryana Family ID:- हरियाणा फैमिली आईडी में करें ख़ुद सुधार वर्ना आ सकती है दिक्कत

Haryana Family ID Card हरियाणा सरकार ने फैमिली ID से संबंधित एक बड़ा फैसला किया है। अब हरियाणा राज्‍य के लोग फैमिली ID में अपनी आय के आंकड़े मे सुधार कर सकते हैं। यह फ़सला अधिकतर संख्‍या में लोगों की सामाजिक संबंधित पेंशन कटने के कारण उठाया गया है।

Haryana News हरियाणा में 1 लाख 80 हजार रुपये से ज्यादा इनकम वाले बुजुर्ग पति-पत्नी की आय पेंशन काटे जाने के आरोपों के बाद हरियाणा सरकार ने अहम फैसला लिया है। सरकार ने स्पष्ट किया है कि किसी भी व्यक्ति की पेंशन नहीं काटी जाएगी जो उसके लिए पात्र है।

संभव है कि उनके परिवार पहचान पत्रों में आय एक लाख 80 हजार रुपये वार्षिक से अधिक दिखाई गई हो। ऐसे में सरकार ने लोगों को परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) में दर्ज की गई आय राशि में सुधार करने का मौका दिया है।

यह भी पढ़ें -  अगर परिवार पहचान पत्र नहीं दिया तो लगेगी दोगुनी फीस

पेंशन कटने के विरोध मे सरकार का बड़ा ऐलान

हरियाणा सरकार ने जानकारी दी कि जिन लोगों ने किसी कारण से फैमिली id में अनुचित इनकम वाले की जानकारी दी गई थी, अब वह इसे बदलने के लिए के लिए आवेदन अपलाई  कर सकते है उदाहरण के द्वारा यदि किसी व्यक्ति ने अपनी पारिवारिक इनकम ग़लतवश ज्यादा दर्शाई थी,

अब वह इसे पहले से कम करने के लिए आवेदन करेंगे। इसके लिए फैमिली ID की आधिकारित  वेबसाइट https://meraparivar.haryana.gov.in/ पर जाकर “Report Grievance” पर क्लिक करने के बाद जरूरी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए अपनी आय की जानकारी देनी होगी।  

आय में सुधार के लिए जांच करवाएगी राज्य सरकार

यह भी पढ़ें -  IELTS संचालक से फायरिंग कर फिरौती में मांगें 1 करोड़ । मूसेवाला हत्याकांड से ताल्लुक रखता है आरोपी

हरियाणा सरकार ने जानकारी दी कि आवेदक चाहें तो साथ में अपने दावे से जुड़े हुये दस्तावेज़ भी Attached कर सकते हैं। समाज कल्याण विभाग (Social Welfare Department) के अनुसार यह जानकारी वेरिफ़ाई करवाई जाएगी।अगर व्यक्ति द्वारा दी गई जानकारी सही मिलती है तो आगे की कार्रवाई ध्यान में लाई जाएगी। लोगो से अनुरोध किया गया है आपको जानकारी के लिए बता दे कि वे केवल Verified जानकारी ही PPP पोर्टल पर अपलोड करें

पारिवारिक इनकम की जानकारी में सुधार न होने की वजह से कई लोग सरकार के द्वारा मिलने वाली सुविधाओं से वंचित रह हो रहे हैं, जिसके कारण सरकार ने निर्णय लिया है कि अब कोई भी नागरिक PPP में दिए जानकारी में सुधार के लिए आवेदन कर सकता है और सरकार की योजनाओं का लाभ उठा पाएगा। 

यह भी पढ़ें -  HCS भर्ती घोटाला, चार्जशीट जारी

सीएम के मीडिया सलाहकार अमित आर्य ने बताया कि पीपीपी हरियाणा में प्रत्येक परिवार की पहचान करता है। ऐसे परिवारों को आठ अंकों का परिवार आइडी प्रदान किया जाता है। फैमिली डेटा के आटोमेटिक अपडेशन को सुनिश्चित करने के लिए फैमिली आइडी को बर्थ, डेथ और मैरिज रिकार्ड से जोड़ा गया है।

अमित आर्य ने जानकारी दी कि  सरकार फैमिली ID से Scholarship,subsidy और पेंशन जैसी योजनाओं को जोड़ रही है, ताकि अलग अलग योजनाओं, सब्सिडी और पेंशन के लाभार्थियों के स्वत: चयन प्रक्रिया को स्वच्छता में लाया जा सके। पीपीपी डेटाबेस में डेटा प्रमाणित और सत्यापित हो जाने के बाद किसी लाभार्थी को कोई और दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता नहीं है।