‘सचिन-सौरव इंग्लैंड के गेंदबाजों को ऐसे कूट रहे थे जैसे वो ‘स्कूली लड़के’ हों’

भारतीय क्रिकेट टीम में कई बल्लेबाजी जोड़े आए और चले गए, लेकिन सबमें मशहूर सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की जोड़ी थी. जो काम इस जोड़ी ने किया वह शायद ही किसी जोड़ी ने किया होगा. सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की जोड़ी ने एकदिवसीय मैचों में पारी की शुरुआत करते हुए 6600 से अधिक रन बनाए हैं. इस दौरान इस जोड़ी ने 21 शतक और 23 अर्धशतक भी लगाये है.

सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की जोड़ी एकदिवसीय मैचों में सबसे सफल जोड़ी मानी जाती है. सचिन और सौरव की जोड़ी का एकदिवसीय मैचों में कोई तोड़ नहीं है. वही टेस्ट मैचों में भी पारी की शुरुआत करते हुए कई यादगार साझेदारी की है. टेस्ट में दोनों ने एक साथ बल्लेबाजी करते हुए 4173 रनों की साझेदारी की है. जिसमें 12 शतक प्लस स्टैंड है. इन दोनों की सबसे बेहतरीन साझेदारी 281 रनों की है.

इन दोनों की दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी 2002 में हेडिंग्ले में एक मैच के दौरान इंग्लैंड के खिलाफ हुई थी. जिसमें दोनों ने 249 रनों की बेहतरीन साझेदारी की थी. मशहूर लीड्स टेस्ट मैच में भारतीय टीम के 3 बड़े बल्लेबाज राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली ने इंग्लैंड के गेंदबाज के खिलाफ जमकर रन बनाए थे. इस जोड़ी की महानता को याद करते हुए पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने एक मजेदार किस्सा शेयर किया है.

सोनी लिव पर बातचीत के दौरान सुनील गावस्कर ने कहा है कि ‘यह देखने के लिए कि सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की जोड़ी कैसी बल्लेबाजी करती है. वह इंग्लैंड के साथ खिलवाड़ कर रही थी. जैसे स्कूल के बच्चे हों. यह देखना काफी मजेदार था. जब पारी घोषित करने की बातचीत हो रही थी उस दौरान ऐसा लग रहा था कि सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली एकदिवसीय मैच खेल रहे हो.’