जब रात भर सो नहीं सके थे हार्दिक, बचपन के कोच ने बताई उस पल के दास्तां

आईपीएल 2022 की नई नवेली टीम गुजरात टाइटंस का कप्तान जब हार्दिक पांड्या को बनाया गया था तो सभी को आश्चर्य हुआ था. क्योंकि इससे पहले हार्दिक पांड्या ने कभी कप्तानी नहीं की थी. उस समय हार्दिक पांड्या चोटों की वजह से भारतीय टीम से भी बाहर थे और उसके खेलने पर भी सवाल उठ रहे थे.

उस समय किसी को भी उम्मीद नहीं हुई होगी कि हार्दिक पांड्या की कप्तानी में गुजरात टाइटंस आईपीएल 2022 की ट्रॉफी जीतेगी. लेकिन हार्दिक पांड्या ने पूरी कहानी ही बदल दी और इस सीजन में उसने बल्ले और गेंद दोनों से मुश्किल समय में बेहतर प्रदर्शन किया है. आईपीएल 2022 का खिताब जीतने के बाद सभी दिग्गज इस समय हार्दिक पांड्या की तारीफ कर रहे हैं. आईपीएल 2022 हार्दिक पांड्या के नए रूप में याद किया जाएगा. आईपीएल के बाद सचिन तेंदुलकर ने एक बेस्ट आईपीएल एलेवन बनाया है. जिसमें इस आईपीएल में हार्दिक पांड्या को कप्तानी देखकर इस टीम का कप्तान हार्दिक पांड्या को बनाया है.

इसी बीच हार्दिक पांड्या के बचपन के कोच ने उसके बचपन के बुरे दिनों के बारे में याद करते हुए हार्दिक पांड्या के वादे के बारे में बताया है. 2019 में टीवी के मशहूर शो ‘कॉफी विद करण’ में हार्दिक पांडेय ने महिलाओं के बारे में विवादास्पद बयान देकर भूचाल ला दिया था. जिसके बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एकदिवसीय मैचों की सीरीज से बाहर कर दिया गया और बीसीसीआई ने उन्हें भारत वापस बुला लिया था.

हार्दिक पांड्या के बचपन के कोच जितेंद्र सिंह ने द इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए उस समय को याद करते हुए बताया है कि ‘वह पूरी रात सो नहीं सके थे’ कोच ने कमरे में मौजूद एक दूसरे शख्स से पूछा था. इसके बाद जितेंद्र सिंह ने बताया कि उसने हार्दिक से कहा था कि ‘टेंशन नहीं लेना. तुम दोबारा भारतीय टीम के लिए खेलोगे. जो हो गया सो हो गया. अब टेंशन लेने से कोई फायदा नहीं है. कल रिलायंस स्टेडियम आना. अब हंस दो’.

उन्होंने आगे कहा कि ‘मैंने उसके लिए स्टेडियम कोर्ट बुक किया था ताकि उसमें खेल की भावना वापस लाया जा सके. मैं चाहता था कि वह पसीना बहाए. मैंने उसे खुला छोड़ दिया. उसको एहसास हुआ कि वह स्पोर्ट्समैन है. वह यही करने के लिए पैदा हुआ है. कोई चैट शो नहीं’.

जितेंद्र सिंह ने बताया कि हार्दिक ने इस मामले के बाद वादा किया था कि कोच अब मेरे बारे में कोई भी नेगेटिव चीज नहीं सुनोगे. फिर कोच ने हार्दिक पांड्या से कहा ‘वह अपने शब्दों पर कायम रहे. आज उनके पिता को बहुत गर्व होगा’.
आईपीएल के इस सीजन में हार्दिक पांड्या ने अपनी कप्तानी से सभी को प्रभावित किया है. फाइनल मुकाबले में पांड्या ने राजस्थान के महत्वपूर्ण 3 विकेट हासिल किए और बल्लेबाजी करते हुए 30 गेंदों पर 34 रन भी बनाए थे.