‘मैं अपना खेल किसी को कुछ दिखाने के लिए नहीं खेलता’

आईपीएल 2022 में पहली बार कप्तानी करने वाले हार्दिक पांड्या ने इस सीजन की नई टीम गुजरात टाइटंस को सीजन 15 का चैंपियन बनाया है. उन्होंने स्वीकार किया है कि जिम्मेदारी मिलने के बाद वह मैदान पर अपना सबसे बेस्ट देते हैं. हार्दिक पांड्या को आयरलैंड के डबलिन में खेले जाने वाले दो मैचों की टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज के लिए भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया है.

भारतीय टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने पहले टी20 मैच की पूर्व संध्या पर मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि ‘पहले भी मुझे जिम्मेदारी लेने में मजा आता था और अभी भी ऐसा ही है, लेकिन अब ज्यादा जिम्मेदारी आ गई है. मेरा हमेशा से यही मानना है कि मैंने जिम्मेदारी लेने के बाद बेहतर प्रदर्शन किया है’.

भारतीय टीम की पहली बार अंतरराष्ट्रीय मैचों में कप्तानी कर रहे हार्दिक पांड्या ने हुंकार भरते हुए कहा है कि ‘मैं यहां किसी को कुछ दिखाने के लिए नहीं हूं. मुझे भारतीय टीम का नेतृत्व करने का मौका मिला है, जो मेरे लिए अपने आप में बहुत बड़ी बात है. मैं अपना खेल किसी को कुछ दिखाने के लिए नहीं खेलता. मैं काफी अच्छा हूँ’.

हार्दिक ने आगे कहा कि ‘अगर मैं अपनी चीजों की जिम्मेदारी लेता हूँ तो अपना फैसला करता हूं और वह मजबूत होते हैं. क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसमें अलग-अलग परिस्थितियों के दौरान मजबूत बने रहना बहुत खास है. मुझे जब भी जिम्मेदारी दी गई है तो मैंने इसे हमेशा से संभाला है, इसलिए मैं बेहतर बना. कप्तानी के दौरान मैं देखुंगा कि मैं प्रत्येक खिलाड़ी को यही जिम्मेदारी कैसे दे सकता हूं’.

भारतीय टीम के दो करिश्माई कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली के नेतृत्व में हार्दिक पांड्या को खेलने का मौका मिला है. हार्दिक ने उन दोनों से नेतृत्व करने की काबिलियत सीखी है’. हालांकि उनका कहना है कि ‘हर कप्तान का कप्तानी करने का अपना अलग तरीका होता है’. उन्होंने आगे कहा है कि ‘मैंने निश्चित रूप से उन दोनों करिश्माई कप्तान से काफी चीजें सीखी है. लेकिन साथ ही मेरे खुद के भी फैसले होते हैं. मेरे खेल की अलग समझ है. लेकिन मैंने उनसे काफी अच्छी-अच्छी चीजें सीखी है’.