भुवनेश्वर ने कर दिया क्लीन बोल्ड, दुसेन खड़े-खड़े देखते रह गए

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पांच मैचों की टी20 सीरीज का दूसरा मैच आज बाराबती स्टेडियम कटक में खेला जाएगा. इस मैच में दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग करने का निर्णय लिया. इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने श्रेयस अय्यर के सबसे ज्यादा 40 रनों की बदौलत दक्षिण अफ्रीका को 149 रनों का लक्ष्य दिया है. लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका की टीम फिलहाल पिछड़ती हुई नजर आ रही है.

इस मैच में पावर प्ले के दौरान ही दक्षिण अफ्रीका के तीन महत्वपूर्ण विकेट गिर चुके हैं और उसकी टीम काफी दबाव में नजर आ रही हैं. दक्षिण अफ्रीका को पहला झटका पहले ही ओवर के आखिरी गेंद पर आर हेंड्रिक्स के रूप में लगी. जिसे भुवनेश्वर कुमार ने क्लीन बोल्ड कर दिया. वही दूसरा झटका तीसरे ओवर की पांचवीं गेंद पर ड्वेन प्रिटोरियस के रूप में लगा. ड्वेन प्रिटोरियस को भी भुवनेश्वर कुमार ने ही आवेश खान को कैच थमाकर पवेलियन भेज दिया. कमाल की बात यह है कि दक्षिण अफ्रीका के यह दोनों बल्लेबाज एक चौके की मदद से 4 रन बनाकर आउट हुए हैं.

दक्षिण अफ्रीका की पारी के पावर प्ले के आखिरी ओवर के दौरान भुवनेश्वर कुमार ने तीसरा झटका वान डर डुसैं को पवेलियन भेजकर दिया. छठे ओवर की पहली गेंद भुवनेश्वर कुमार की बैक ऑफ लेंथ डिलीवरी थी. इस गेंद को वान डर डुसैं ने क्रीज में खड़े-खड़े ही खेलना चाहा. लेकिन वान डर डुसैं गलत लाइन से खेल बैठे और गेंद बल्ले के निचले नीचे से लगती हुई ऑफ स्टंप के उपरी हिस्से से जा टकराई और वान डर डुसैं बोल्ड होकर पवेलियन चले गए.

इस दौरान उन्होंने 7 गेंदों पर मात्र 1 रन बनाए हैं. अगर वान डर डुसैं इस गेंद को खेलने में अपने पैरों का सहारा लेते तो शायद आउट होने से बच सकते थे. पिछले मैच में शानदार बल्लेबाजी करने वाले वान डर डुसैं इस मैच में मात्र 7 गेंदों को खेलना दक्षिण अफ्रीका के दबाव को दर्शाने के लिए काफी है.

भारतीय कप्तान ऋषभ पंत का भुवनेश्वर कुमार से तीसरा ओवर कराने का फैसला सही साबित हुआ है. भुवनेश्वर कुमार ने 3 ओवर में 3 विकेट लेकर मात्र 10 रन दिए हैं. इस समय भारतीय टीम काफी अच्छी स्थिति में नजर आ रही है और मैच जीतने की पूरी संभावना अभी बरकरार है.