चुपचाप जाकर कुर्सी पर बैठ गए राहुल द्रविड़, कोई पहचान तक नहीं पाया

भारतीय टीम के कोच और द वॉल ऑफ टीम इंडिया के जाने-माने राहुल द्रविड़ का नाम सुनते ही उनकी सादगी की छवि छा जाती है। राहुल द्रविड़ क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक है और बहुत सुलझे हुए भी खिलाड़ी है। राहुल द्रविड़ को क्रिकेट के मैदान पर कभी किसी ने चिल्लाते हुए झगड़ते हुए या फिर गुस्सा करते हुए नहीं देखा होगा। वह हमेशा शांत स्वभाव के साथ खेलते हैं I ऐसा नहीं है कि राहुल द्रविड़ सिर्फ मैदान के अंदर ही अपने साथ स्वभाव के लिए जाने जाते हैं बल्कि मैदान के बाहर भी राहुल द्रविड़ एक आम इंसान की तरह रहते हैं।

सोशल मीडिया पर राहुल द्रविड़ की एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें दिख रहा है कि एक किताब की दुकान में राहुल द्रविड़ चुपचाप आराम से बैठे हुए हैं। उनकी यह अंदाज देखकर लोग उनको काफी तारीफें करते हैं। राहुल द्रविड़ इस वक्त भारतीय टीम के मुख्य कोच है। इसके बावजूद भी राहुल द्रविड़ बिना कोई प्रोटोकॉल के चुपचाप आराम से बैठे हुए हैं। जिसके दौरान कई लोग उनको पहचान भी नहीं पाए क्योंकि लोगों को यह यकीन ही नहीं हो रहा था कि यह राहुल द्रविड़ ही हो सकते हैं।

सोशल मीडिया के पोस्ट के अनुसार राहुल द्रविड़ पूर्व खिलाड़ी गुणप्पा विश्वनाथ की नई किताब पर बातचीत के दौरान पहुंचे थे। जीआर विश्वनाथ अपनी नई किताब रिस्ट एश्योर्ड के बारे में बातचीत के दौरान आए थे। कार्यक्रम के दौरान राहुल द्रविड़ मास्क पहनकर वहां पर पहुंचे और चुपचाप पीछे बैठ गए। वहां पर आए हुए लोगों को यह तक पता नहीं चला कि वहां पर राहुल द्रविड़ भी आए हुए हैं। लोगों को जब पता चला तब कुछ लोग उनके पास गए और उनसे ऑटोग्राफ लिए।

सोशल मीडिया पर बहुत सारे लोग उनकी बहुत तारीफ कर रहे हैं I काशी नाम के यूजर ने लिखा है कि राहुल द्रविड़ मास्क लगाकर अकेले टहल रहे थे, उन्होंने राम गुहा का अभिनंदन किया। जिसके बाद मैंने और समीर ने पहचानते हुए कहा कि यह तो राहुल द्रविड़ है। फिर हम लोग खुश हो कर गए और आखरी लाइन में बैठ गए। जो लड़की उनके अगले सीट पर बैठी हुई थी उनको यह तक नहीं पता था कि उनके बगल में राहुल द्रविड़ बैठे हुए हैं।