जो काम विराट कोहली नहीं कर पाया वो चहल ने कर दिखाया

भारत और इंग्लैंड के बीच तीन एकदिवसीय मैचों की सीरीज का तीसरा मुकाबला रविवार 17 जुलाई को ओल्ड ट्रैफर्ड मैनचेस्टर में खेला गया. इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लिश टीम ने 45.5 ओवर में 260 रनों का लक्ष्य भारतीय टीम को दिया था. इस लक्ष्य को भारत में ऋषभ पंत के नाबाद शतकीय पारी के दम पर 42.1 ओवर में हासिल कर 5 विकेट से यह मैच जीत ली है. इस मैच को जीतकर भारत में तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला 2-1 से अपने नाम कर ली है.

इस मैच में भारत के स्पिन गेंदबाज यूज़वेंद्र चहल ने अपनी गेंदबाजी से सभी का दिल जीता है. वही इंग्लैंड की पारी के दौरान यूज़वेंद्र चहल को मैदान पर मस्ती करते हुए भी देखा गया है. चहल ने अपनी गेंदबाजी के दौरान इंग्लैंड के एक बल्लेबाज के बल्ले को इंग्लिश बल्लेबाज जो रूट की तरह बल्ले को बैलेंस करने में कामयाब रहे हैं. जो रूट पिछले महीने न्यूजीलैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच के दौरान इस करतब को करते हुए प्रशंसकों का ध्यान अपनी ओर खींचा था.

यूज़वेंद्र चहल ने भी इंग्लैंड की पारी के दौरान एक ओवर में बल्ले को छूकर संतुलन बनाने की जो रूट की चाल की कॉपी करने का प्रयास करते हुए नजर आए हैं. इससे पहले इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट के दौरान विराट कोहली ने भी जो रूट की जादू वाली चाल का कॉपी करते हुए दिखाई दिए थे, लेकिन इसमें वह सफल नहीं हो सके थे. जानकारी के अनुसार जो रूट सपाट तल वाले बल्ले का इस्तेमाल करते हैं. जिसके कारण वह बल्ले को मैदान पर संतुलन बनाकर खड़े करने का जादू दिखाया था.

इस मैच में इंग्लिश के गेंदबाजों ने भारतीय टॉप ऑर्डर को पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया था. इसके बाद बल्लेबाजी करने आए ऋषभ पंत और हार्दिक पांड्या ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए मैच को अपनी झोली में डाल लिया. इस मैच में ऋषभ पंत ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 113 गेंदों में 13 चौके और दो छक्के की मदद से बेहतरीन 125 रनों की नाबाद पारी खेली है.

वही हार्दिक पांड्या ने पंत का साथ देते हुए 55 गेंदों पर 10 चौके की मदद से 71 रनों की पारी खेली थी. साथ ही पांड्या ने इंग्लैंड के महत्वपूर्ण चार विकेट भी चटकाए थे. हार्दिक पांड्या इस मैच में 4 विकेट के साथ अर्धशतकीय पारी खेलने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज वाले हैं. वही ऋषभ पंत ने अपने कैरियर का पहला वनडे शतक लगाया है.