हर खबर सबसे पहले...अभी जुड़ें
Whatsapp Group
Join
Telegram Channel
Join
Whatsapp Channel
Join

‘666666….’आज के दिन ही इस भारतीय खिलाडी ने बनाया था वर्ल्ड रिकॉर्ड, जो 33 साल तक नहीं टुटा

आज से 39 साल पहले, एक महान क्रिकेटर ने वानखेड़े स्टेडियम में इतिहास रचा था। भारतीय क्रिकेट के दिग्गज रवि शास्त्री ने 10 जनवरी 1985 को प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सबसे तेज दोहरा शतक जमाकर दुनिया को चौंका दिया था। इस कारनामे के बाद, रिकॉर्ड 33 साल तक कायम रहा और अब भी यह एक अद्वितीय क्षण बना हुआ है।

इतिहासी पल का दीदार

शास्त्री ने उस दिन बड़ौदा के खिलाफ खेले गए रणजी ट्रॉफी के मैच में 200 रनों की पारी खेली थी, और इस परी में एक ही ओवर में 6 छक्के भी मारे थे। यह कारणामा हर भारतीय क्रिकेट भक्त के दिल को छू गया था। शास्त्री ने महज 113 मिनट में इस दुनियाभर में अपना नाम किया रखा था।

रिकॉर्ड की टूटी तारीख

शास्त्री का रिकॉर्ड बनने के बाद, इसे 2017-18 में अफगानिस्तान के शफीकउल्लाह ने छुआ था, जिन्होंने काबुल रीजन के खिलाफ 103 मिनट में दोहरा शतक जमाया था। हालांकि, रवि शास्त्री का रिकॉर्ड उन दिनों की मिसाल बनता रहा है, जो अब तक अद्वितीय है।

रवि शास्त्री का ‘चैम्पियन ऑफ चैम्पियंस’ खिताब

इस दौरान ही, रवि शास्त्री ने उन्हें ‘चैम्पियन ऑफ चैम्पियंस’ का खिताब भी हासिल किया था। भारतीय टीम ने 1985 में मार्च महीने में बेंसन एंड हेजेज वर्ल्ड चैम्पियनशिप कप पर कब्जा किया था और शास्त्री को इस उपलब्धि के लिए सम्मानित किया गया था।

रवि शास्त्री का संघर्ष और सफलता का सफर

रवि शास्त्री का यह करिश्माई क्षण सिर्फ एक ही नहीं था, बल्कि उनका पूरा करियर भी उनके संघर्ष और सफलता का सफर से भरपूर है। उन्होंने भारतीय टीम के साथ अनेक महत्वपूर्ण क्षणों को साझा किया और उनकी उपयोगी खेल क्षमताओं ने उन्हें हमेशा यादगार बना रखा है।

रवि शास्त्री का रिकॉर्ड अब भी दुनिया के सबसे तेज दोहरा शतक के रूप में चमक रहा है, लेकिन इस क्षेत्र में अन्य दिग्गज भी नजर आते हैं। शफीकउल्लाह के अलावा, गिलबर्ट जेसॉप और क्लाइव लॉयड भी अपने समय में इसमें चमक रहे थे।

  1. शफीकउल्लाह (200):* 103 मिनट, काबुल रीजन विरुद्ध बूस्ट रीजन, 2018
  2. रवि शास्त्री (200):* 113 मिनट, बंबई विरुद्ध बड़ौदा, 1985
  3. गिलबर्ट जेसॉप (286): 120 मिनट, ग्लॉस्टरशायर विरुद्ध ससेक्स, 1903
  4. क्लाइव लॉयड (201):* 120 मिनट, वेस्टइंडीज विरुद्ध ग्लेमॉर्गन, 1976
  5. गिलबर्ट जेसॉप (234): 130 मिनट, ग्लॉस्टरशायर विरुद्ध सॉमरसेट, 1905