‘मेरी मम्मी को फोन मिला दो’ ड्राईवर ने किया खुलासा, खून से लथपथ पंत ने की थी गुजारिश

भारतीय टीम के स्टार बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का 30 दिसंबर 2022 को भीषण कार एक्सीडेंट हो गया। इस हादसे में पंत गंभीर रूप से घायल हो गए। बता दें पंत दिल्ली से रुड़की अकेले गाड़ी चलाकर जा रहे थे, लेकिन रुड़की के पास हाईवे में उनकी कार डिवाइडर से टकरा गई और उसके बाद कार में आग लग गई।

इस मौके पर मौजूद हरियाणा रोडवेज बस के ड्राइवर और कंडक्टर ने पंत (Rishabh Pant) की जान बचाई। उस दौरान पंत ने होश में आते ही ड्राइवर से कहा कि वो उनकी मम्मी को फोन लगा दे, जिसके बाद अब ड्राइवर सुशील कुमार (Sushil Kumar) ने पूरी घटना के बारे में बताया।

भारतीय टीम के स्टार बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का रुड़की के पास सड़क हादसा हो गया है। इस हादसे में पंत की जान बचाने में मौके पर दो हरियाणा बस के ड्राइवर औक कंडक्टर का अहम योहदान रहा। बता दें हरियाणा रोडवेज के ड्रािवर सुशील कुमार और परिचालक परमजीत ने मौके पर समझदारी दिखाते हुए पंत की जान बचाई। दरअसल पंत अकेले दिल्ली से रुड़की न्यू ईयर मनाने के लिए जा रहे थे।

यह भी पढ़ें  25 साल से भारत के खिलाफ वनडे सीरीज नहीं जीत पाया ये देश,देखें दोनों टीमों के बीच के आंकड़ें

लेकिन रुड़की के पास उनकी (Rishabh Pant) गाड़ी डिवाइडर से टकरा गई और उनके साथ ये हादसा हुआ। इस दौरान पंत ने हाथ से शीशा तोड़कर बाहर निकलकर अपनी जान बचाई। उसके बाद उनकी गाड़ी में आग लग गई। पंत को कार से बाहर निकालने में दो हरियाणवियों का अहम रोल रहा, जिन्होंने पंत को तुरंत अस्पताल पहुंचाया।

पंत के फैन ने ड्राइवर को बताया ये ऋषभ पंत है

इसके साथ ही सुशील कुमार ने ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ से बातचीत करते हुए बताया कि जब वो बस चला कर रहे थे, बस में बैठे एक यात्री ने घायल पंत को देखा और कहा, ”ये तो क्रिकेटर ऋषभ पंत है “। कुमार ने साथ ही कहा “मैं शायद ही क्रिकेट देखता हूं। मुझे नहीं पता कि भारतीय टीम की तरफ से कौन क्रिकेट खेलता है। मैं सिर्फ सचिन (तेंदुलकर) और (एमएस) धोनी को जानता हूं। चाहे वह क्रिकेटर हो या करोड़पति, मैं सिर्फ मदद करना चाहता था और एक जीवन बचाना चाहता था।”

यह भी पढ़ें  पूर्व चयनकर्ता ने वर्ल्ड कप 2023 की भारत की टीम से 2 बड़े नामों को किया बाहर

‘मां को फोन मिला दो’

इस हादसे को लेकर हाल ही में बस ड्राइवर सुशील कुमार (Sushil Kumar) और कंडक्टर परमजीत ने कई खुलासे किए है। उन्होंने बताया कि पंत (Rishabh Pant) को जब उन्होंने गाड़ी से बाहर निकाला तो, वो फुटपाथ पर लेट गए थे। जिसके बाद जैसे ही पंत को हल्का होश आया, तो उन्होंने पूछा कि कार में और तो कोई नहीं हैं। तो उन्होंने मना करते हुए कहा कि नहीं। फिर पंत ने ड्राइवर से पहले पानी मांगा, लेकिन ड्राइवर को उनकी हालात देखकर उन्हें पानी देना सही नहीं लगा। लेकिन लगातार रिक्वेस्ट के बाद उन्होंने पंत को पानी दिया।

इसके बाद पंत ने उनसे कहा कि मेरी मम्मी को फोन लगा दो। जिसके बाद ड्राइवर ने उनकी मम्मी को फोन लगाया, लेकिन फोन स्विच ऑफ मिला। जिसके बाद पंत को वो एंबुलेंस में अस्पताल ले गए। इस दौरान पंत के सड़क पर ही बिखरे पैसे पड़े थे, जिसे उन्होंने उठा कर पंत के हाथ पर रख दिए।

यह भी पढ़ें  PSL से ज्यादा IPL में पैसा कमाएंगे ये विदेशी खिलाड़ी, कीमत जानकर दंग रह जाएंगे आप