धोनी, विराट और रोहित शर्मा की तरह श्रीलंका को इतिहास रचने से रोकना चाहेगा ये खिलाडी

भारत और श्रीलंका के बीच तीन टी20 मैच की सीरीज का आखिरी और निर्णायक मुकाबला आज राजकोट में खेला जाना है। इस मैच में मेहमानों की नजरें भारत को चित कर इतिहास रचने पर होगी, वहीं भारतीय कप्तान हार्दिक पांड्या महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली और रोहित शर्मा के नक्शे कदम पर चलते हुए श्रीलंका के खिलाफ भारत का विजय रथ जारी रखना चाहेंगे। दरअसल, भारत ने श्रीलंका के खिलाफ घर में 2009 में सबसे पहले द्वीपक्षीय सीरीज खेली थी, तब से लेकर भारत आज तक इस टीम के खिलाफ घर में सीरीज नहीं हारा है। अगर टीम इंडिया आज जीत दर्ज करने में कामयाब रहती है तो हार्दिक पांड्या का नाम भी धोनी, कोहली और रोहित की सूची में जुड़ जाएंगे, वहीं अगर श्रीलंका जीतने में कामयाब रहती है तो वह इतिहास रचते हुए भारत को पहली पर घर पर टी20 सीरीज हराएगा।

2009 में पहली बार भारत ने श्रीलंका के खिलाफ घर में खेली थी टी20 सीरीज

यह भी पढ़ें  विराट कोहली के दोस्त के IPL बयान पर मचा तहलका, कभी साथ जमाते थे महफिल

महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में टीम इंडिया ने 2009 में सबसे पहले श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज खेली थी। दो मैच की इस सीरीज का पहला मैच जीतकर श्रीलंका ने अच्छी शुरुआत की थी, मगर भारत ने दूसरे मैच में जोरदार वापसी करते हुए मेहमानों को धूल चाटाई थी और साथ ही सीरीज को 1-1 की बराबरी पर खत्म किया था।

इसके बाद श्रीलंका ने 2016, 2017, 2020 और 2022 में भारत दौरे पर टी20 सीरीज खेली और हर बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा। भारत ने इस दौरान क्रमश: 2-1, 3-0, 2-0 और 3-0 से सीरीज जीती थी। 

हार्दिक पांड्या जारी रखना चाहेंगे विजय रथ

बात मौजूदा सीरीज की करें तो, वानखेड़े में खेले गए पहले टी20 में टीम इंडिया ने करीबी मुकाबले में 2 रनों से जीत दर्ज की थी। रन चेज के लिए मशहूर इस मैदान पर हार्दिक पांड्या ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनते हुए मेहमानों के सामने 163 रनों का स्कोर खड़ा किया था। भारतीय गेंदबाजों की लाजवाब परफॉर्मेस के चलते टीम इंडिया इस स्कोर को डिफेंड करने में कामयाब रही थी।

यह भी पढ़ें  केएल राहुल की बाहों में मशहूर बॉलीवुड एक्ट्रेस,ब्लैक ड्रेस में दोनों ने करा कमाल

दूसरा टी20 पुणे में खेला गया था, यहां हार्दिक ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी। श्रीलंका ने भारत के इस फैसले का फायदा उठाते हुए बोर्ड पर 206 रन लगा दिए। यह इस मैदान पर मात्र दूसरा मौका था जब कोई टीम टी20 में 200 रन का आंकड़ा पार करने में सफल रही थी। इस स्कोर का पीछा करते हुए भारतीय शीर्ष क्रम लड़खड़ा, मगर सूर्यकुमार, अक्षर पटेल और शिवम मावी की शानदार बल्लेबाजी के चलते भारत 190 के स्कोर तक पहुंचने में कामयाब रहा। भारत को इस मैच में 16 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

आज सीरीज के निर्णायक मुकाबले में हार्दिक पांड्या एंड कंपनी की नजरें श्रीलंका को इतिहास रचने से रोकने पर होगी।