जडेजा ने इस खिलाड़ी को बताया नया कप्तान, औसत 60-70 का, चार साल पहले कप्तानी का दावेदार था

2023 वनडे विश्व कप के बाद रोहित शर्मा तीनों फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ सकते हैं। वनडे और टी20 में हार्दिक उनकी जगह ले सकते हैं तो टेस्ट में ऋषभ पंत को कप्तानी सौंपी जा सकती है। 

भारतीय टीम के नए कप्तान को लेकर चर्चा जोरों पर है। टीम इंडिया के मौजूदा कप्तान रोहित शर्मा 2023 वनडे विश्व कप के बाद तीनों फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ सकते हैं। वनडे और टी20 में हार्दिक उनकी जगह ले सकते हैं तो टेस्ट में ऋषभ पंत को कप्तानी सौंपी जा सकती है। 2022 में सात खिलाड़ियों ने अलग-अलग फॉर्मेट में भारत की कप्तानी की है, लेकिन आने वाले समय में टीम इंडिया के दो नियमित कप्तान हो सकते हैं। 

भारत के नए कप्तान की रेस में लोकेश राहुल से लेकर ऋषभ पंत, हार्दिक पांड्या और जसप्रीत बुमराह का नाम भी शामिल है। हालांकि, पूर्व भारतीय क्रिकेटर अजय जडेजा ने श्रेयस अय्यर को भविष्य का कप्तान बताया है। अय्यर धीरे-धीरे टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की कर रहे हैं। अय्यर के लिए 2022 का साल शानदार रहा है। उन्होंने इस साल सभी प्रारूपों में कुल मिलाकर 1609 रन बनाए हैं। इस मामले में वह सूर्यकुमार यादव से 185 रन आगे हैं। बांग्लादेश के खिलाफ हाल ही में समाप्त हुए मीरपुर टेस्ट में अय्यर ने जिस तरह से बल्लेबाजी की है, उसके बाद जडेजा को लगता है कि अय्यर को बीसीसीआई अगले भारतीय कप्तान के रूप में देख सकता है।

यह भी पढ़ें  PSL से ज्यादा IPL में पैसा कमाएंगे ये विदेशी खिलाड़ी, कीमत जानकर दंग रह जाएंगे आप

जडेजा ने एक स्पोर्ट्स चैनल से बातचीत में कहा “यह पहली बार नहीं है, बल्कि श्रेयस अय्यर ने वास्तव में दो-तीन बार चोट से वापसी की है। एक बार जब वह चोट से वापस आया, तो वह शॉर्ट-पिच गेंदबाजी के खिलाफ संघर्ष कर रहा था और उसने इसे दूर करने के लिए काम किया है। तो जब आप एक कमजोरी को दूर करना सीखते हैं तो आप दूसरी कमियों को भी पीछे छोड़ सकते हैं। आशा करते हैं, देखते हैं क्योंकि 2-3 साल पहले, उन्हें अगले भारतीय कप्तान के रूप में देखा जा रहा था। अब भारतीय क्रिकेट में 12 कप्तानों के साथ यह पूरी तरह से एक अलग नजारा है, लेकिन वह अगले कप्तान बन सकते हैं।” 

शिखर धवन और शुभमन गिल को पीछे छोड़ते हुए अय्यर इस साल वनडे में भारत के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बने हैं। उन्होंने 17 मैचों में 724 रन बनाए। इसके अलावा, वह टेस्ट मैचों में 60.28 के औसत से 422 रन बनाकर शानदार फॉर्म में रहे हैं, जो ऋषभ पंत के बाद दूसरे स्थान पर हैं, जिनके सात मैचों में 680 रन हैं। अय्यर, जिन्होंने पिछले साल न्यूजीलैंड के खिलाफ डेब्यू मैच पर शतक जड़ा था, उन्होंने चार अर्द्धशतक के साथ बहुत सुधार दिखाया है।

यह भी पढ़ें  '2023 मैं तैयार हूं..' बल्लेबाजों की टेंशन बढ़ाने आ गया वर्ल्ड चैंपियन गेंदबाज

इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि अय्यर की शानदार फॉर्म ने उन्हें तीनों फॉर्मेट में भारत की प्लेइंग इलेवन में शामिल होने का दावेदार बना दिया है। बांग्लादेश के खिलाफ 145 रन का पीछा करते हुए भारत 74 रन पर सात विकेट गंवाकर संघर्ष कर रहा था। ऐसे में अय्यर और आर अश्विन ने नाबाद 71 रन की साझेदारी कर टीम को 2-0 से सीरीज जिता दी। 

अजय जडेजा ने कहा “उन्होंने लगातार रन बनाए हैं। इस साल टेस्ट क्रिकेट में उनका औसत 60-70 का है और चौथे दिन उन्होंने जो स्वभाव दिखाया वह शानदार था। अगर उस साझेदारी को ध्यान से देखें, तो अश्विन ने अधिक गेंदों का सामना किया और अधिक रन बनाए। ऐसे में श्रेयस ने जिम्मेदारी के साथ एक छोर संभाले रखा, क्योंकि वह एकमात्र विशेषज्ञ बल्लेबाज थे, जो क्रीज पर थे। यह कहना एक बात है कि ‘मुझे दबाव की स्थिति पसंद है। मैं वहां कामयाब होता हूं’, लेकिन ऐसा करना कुछ और है मेरे लिए, स्वभाव हमेशा कौशल और क्षमता से अधिक महत्व रखता है, क्योंकि अच्छा स्वभाव आपको प्रदर्शन करने और उस कौशल के साथ न्याय करने की अनुमति देता है।”

यह भी पढ़ें  6,6,6,6,6,6,6,6,6 इस खिलाडी ने खेली ऐतिहासिक पारी, ऐसा करने वाले बने दूसरे भारतीय खिलाड़ी