ऋषभ पंत पर बनेगा ओवर स्पीडिंग का केस? DGP ने दिए एक्सीडेंट के बड़े अपडेट्स

टीम इंडिया के स्टार क्रिकेटर ऋषभ पंत कार एक्सीडेंट में बाल-बाल बचे हैं. हादसा शुक्रवार तड़के हुआ, जब पंत खुद कार चलाकर अकेले ही दिल्ली से अपने घर रुड़की आ रहे थे. उनकी कार डिवाइडर से टकरा गई थी. अब पंत के हेल्थ अपडेट, उनके एयरलिफ्ट करने और ओवर स्पीडिंग के केस पर DGP अशोक कुमार ने बयान दिया है.

Rishabh Pant Car Accident: भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार प्लेयर ऋषभ पंत एक बड़े हादसे का शिकार हुए, जिसमें वह बाल-बाल बचे हैं. पंत खुद कार चलाकर अकेले ही दिल्ली से अपने घर रुड़की आ रहे थे. इसी दौरान गुरुकुल नारसन एरिया के पास उनकी कार डिवाइडर से टकराकर हादसे का शिकार हो गई. ऐसे में फैन्स के मन में ऋषभ पंत को लेकर कई सारे सवाल हैं फैन्स को ऋषभ पंत के स्वास्थ्य की भी चिंता है. साथ ही वे यह भी जानना चाहते हैं कि ऋषभ पंत पर ओवर स्पीडिंग का केस भी बनेगा या नहीं? क्या ऋषभ पंत को एयरलिफ्ट करके उपचार के लिए दिल्ली ले जाया जाएगा? हादसे वाली जगह पर पहुंची फॉरेंसिक टीम ने क्या अपडेट दिया?

यह भी पढ़ें  इस खिलाडी का खिलाड़ियों को अल्टीमेटम, अगर स्ट्राइक रेट इतना नहीं हुआ तो सलेक्शन नहीं होगा 

डीजीपी ने बताया कि पंत की हालत अभी ठीक है

इन सभी सवालों के जवाब खुद DGP अशोक कुमार ने दिए हैं. उन्होंने आजतक से बात करते हुए कहा कि ऋषभ पंत की हालत अभी स्थिर है. कोई गंभीर या घबराने वाली बात नहीं है. एयरलिफ्ट को लेकर भी डीजीपी ने बताया कि फिलहाल, ऐसी कोई बात लग नहीं रही है. सीरियस कंडीशन में ही एयरलिफ्ट किया जा सकता है.

सवाल: अभी कैसी स्थिति है ऋषभ पंत की. उनकी चोट कितनी सीरियस है?

DGP ने कहा: अभी उनकी कंडीशन एकदम सामान्य है. डॉक्टर उनको देख रहे हैं. कोई सीरियस इंजरी नहीं मिली है अभी तक

सवाल: क्या उनको दिल्ली के लिए एयरलिफ्ट किया जाएगा. क्या ऐसी कोई संभावना है?

DGP ने कहा: अभी उनको कोई सीरियस इंजरी नहीं है. उनको तो एयर लिफ्ट की कोई जरूरत नहीं है. एयरलिफ्ट सीरियस केस में किया जा सकता है.

सवाल: जो फॉरेंसिक टीम जा रही है, उनकी क्या अपडेट है?

यह भी पढ़ें  BCCI को हुआ 130 करोड़ का नुकसान ? इस खिलाडी की बड़ी मुश्किलें

DGP ने कहा: इसमें अभी मैं ज्यादा कुछ बोल नहीं पाऊंगा. टीम जाकर वहां पर निरीक्षण करेगी. जिस तरह से उनकी जान बची है, वो किसी भगवान की कृपा से कम नहीं है.

सवाल: क्या ये ओवर स्पीडिंग का केस मानते हैं आप?

DGP ने कहा: मेरे ऑफिसर्स ने मुझे ऐसा कुछ बताया नहीं है. ये सिम्पल स्लीपिंग का मामला है. ड्राइव करते समय उनको झपकी आ गई थी, जिसके कारण ये हादसा हुआ.